महासमुंद

शौचालय निर्माण की प्रोत्साहन राशि भुगतान नहीं किए जाने पर
भूतपूर्व सरपंच गिरफ्तार

महासमुंद 08 दिसम्बर 2020/ पिथौरा विकासखण्ड के ग्राम पंचायत जगदीशपुर में शौचालय निर्माण की हितग्राहियों की प्रोत्साहन राशि का अनुचित ढंग से शासकीय राशि का दुरूपयोग करने वालों पर कार्यवाही की गई। शौचालय निर्माण की प्रोत्साहन राशि भुगतान नहीं किए जाने भूतपूर्व सरपंच को गिरफ्तार किया गया। इस संबंध में संबंधित शिकायत पत्र अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) श्री कुणाल दुदावत पिथौरा से प्राप्त हुआ था। शिकायत पत्र की त्वरित जांच करने के लिए जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रदीप कुमार प्रधान ने तीन सदस्यीय टीम गठित की। इनमें वरिष्ठ आंतरिक लेखा एवं करारोपण अधिकारी श्री सुशील कुमार चैधरी, सहायक करारोपण अधिकारी श्री ईश्वर सिंह ठाकुर, कलस्टर समन्वयक श्री अशोक साहू शामिल थे। जांच समिति द्वारा 07 नवम्बर एवं 10 नवम्बर 2020 को ग्राम पंचायत भवन जगदीशपुर में शिकायतकर्ता एवं शौचालय हितग्राहियों की उपस्थिति में बयान दर्ज एवं अभिलेखों का परीक्षण कर जांच किया गया।
जांच प्रतिवेदन अनुसार ग्राम पंचायत जगदीशपुर में स्वच्छ भारत मिशन के तहत् वर्ष 2016-17 में स्वीकृत 210 व्यक्तिगत शौचालय में से 158 शौचालय हितग्राहियों द्वारा जांच के दौरान अपने स्वयं की राशि से शौचालय निर्माण कराए जाने हेतु बयान एवं शपथ पत्र दिया गया है। लेकिन ग्राम पंचायत जगदीशपुर के भूतपूर्व सरपंच श्री असीम सोना एवं पूर्व सचिवों द्वारा व्यक्तिगत शौचालय निर्माण की प्रोत्साहन राशि आज पर्यन्त तक भुगतान नहीं किया जाना पाया गया। जिसमें ग्राम पंचायत जगदीशपुर के भूतपूर्व सरपंच श्री असीम सोना एवं तत्कालीन सचिव श्री उत्तर कुमार प्रधान द्वारा 06 लाख 99 हजार 850 रूपए एवं भूतपूर्व सरपंच श्री असीम सोना एवं पूर्व सचिव श्री महेश नाग द्वारा 12 लाख 46 हजार 100 रूपए का अनुचित ढंग से शासकीय राशि का दुरूपयोग किया जाना पाया गया।
  इस संबंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत पिथौरा श्री प्रधान द्वारा भूतपूर्व सरपंच एवं तत्कालीन सचिवों से उक्त राशि वूसली की कार्रवाई  किए जाने के लिए जांच प्रतिवेदन जिला पंचायत महासमुन्द को भेजा गया। जिसके आधार पर जिला पंचायत महासमुन्द के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. रवि मित्तल ने जनपद पंचायत पिथौरा को भूतपूर्व सरपंच श्री असीम सोना एवं तत्कालीन सचिवों के विरूद्ध आरक्षी केन्द्र बसना में प्राथमिक सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिए थे। इस संबंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत पिथौरा द्वारा ग्राम पंचायत श्री जगदीशपुर भूतपूर्व सरपंच श्री असीम सोना एवं तत्कालीन सचिव उत्तर कुमार प्रधान से राशि 06 लाख 99 हजार 850 रूपए एवं भूतपूर्व सरपंच श्री असीम सोना एवं पूर्व सचिव श्री महेश कुमार नाग से राशि 12 लाख 46 हजार 100 रूपए का शौचालय निर्माण की हितग्राहियों की प्रोत्साहन राशि का अनुचित ढंग से शासकीय राशि का दुरूपयोग करने के संबंध में उक्त दोषियों के विरुद्ध 07 दिसम्बर 2020 को आरक्षी केन्द्र बसना में प्राथमिक सूचना दर्ज कराया गया। जिसमें भूतपूर्व सरपंच एवं तत्कालीन सचिव के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 409 एवं 38 के तहत् प्रकरण पंजीबद्ध कराया गया है। जिसके तहत् भूतपूर्व सरपंच श्री असीम सोना को गिरफ्तार कर जेल में निरुद्ध किया गया।

लोचन चौधरी की रिपोर्ट…

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button